बम्बुलिआ ग्राम पंचायत

गाँव बम्बुलिआ 1830 ईस्वी मे श्री बुधराम पुत्र श्री राम आसरा ने झास्वा से आकर बसाया था| श्री राम प्रसाद पुत्र श्री मलूका राम सन 1930 ईस्वी मे जेल्दार बने| बुधराम के नाम सेस गाँव का नाम बम्बुलिआ रखा गया| श्री धारीराम पुत्र श्री राम जी लाला ने पुर राज्य व राजस्थान मे आज़ादी का प्रचार किया| इस गाँव मे श्री दुलचन्द पुत्र श्री लज्जे राम आस पास के इलाकेमे माने हुए पहलवान हुए है| बुध राम के बेटे ने अपने घरके सामने नींम का पेड़ लगाया जो आज भी मोजूद है|उसी वृक्ष के नीचे गाँव की पंचायत होती है| श्री होशियार सिंह पुत्र श्री ब्ख्तावर सिंह बारह गाँवो के प्रधान जैजिन्हे गाँव के इतिहास की बाते ज्यों की त्यों याद है,उन्ही से बातचीत करने पर गाँव के इतिहास के बारे मे मालूम हुआ| श्रीमती सीमा पत्नी श्री सत्यवान  सरपंच के पद पर कार्यरत हैं| पंचायत का अलग कार्यालय  है|  पंचायत में कुल 7 वॉर्ड हैं | पंचायत में महिलाओं की संख्या 5 हैं| पंचायत का सालाना बजट नही हैं| जिसमे से बी पी ऐल परिवार 42  और ए पी ऐल परिवार की संख्या 163 के करीब हैं |